Thu. Dec 1st, 2022

श्रवण क्षेत्र अंबेडकरनगर। प्रबोधिनी एकादशी के मौके पर श्रवणक्षेत्र धाम से सप्तकोसी परिक्रमा करने वाले श्रद्धालु को मुश्किले का सामना करना पड़ेगा। श्रवणक्षेत्र धाम परिसर में ही बदहाल हो चुके मार्ग को बेहतर करने की जरूरत नहीं महसूस की जा रही है। इसके अलावा संगम तट पर भी प्रशासन की तरफ से कोई तैयारी नहीं दिख रही है। चार नवंबर को प्रबोधिनी एकादशी को लेकर श्रद्धालुओं में भले ही उत्साह हो, लेकिन प्रशासन हर बार की तरह इस बार भी मौन साधा है।

प्रसिद्ध श्रवणक्षेत्र धाम से प्रत्येक वर्ष प्रबोधिनी एकादशी के मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु सप्तकोसी परिक्रमा करते हैं। जिले के अलावा आसपास के जनपदों के भी श्रद्धालु मड़हा व बिसुही के संगम तट पर पहुंचते हैं। स्नान के बाद श्रद्धालु पहले माता -पिता भक्ति के प्रतीक श्रवण कुमार की प्रतिमा के समक्ष पूजन-अर्चन करते हैं। इसके बाद अपनी परिक्रमा शुरू करते हैं। श्रवणक्षेत्र से निकलने वाली यह परिक्रमा अन्नावां बाजार, पवित्र धाम शिवबाबा, अकबरपुर पुराने तहसील तिराहा, शहजादपुर पूर्वी नाका से वापस पहितीपुर मार्ग होते हुए पहितीपुर मार्केट से होकर श्रवणक्षेत्र धाम पहुंचकर संपन्न होती है। सप्तकोसी परिक्रमा मार्ग बीच-बीच में कई जगह बदहाल है। बसखारी से अयोध्या मार्ग के फोरलेन निर्माण का कार्य शुरू होने से अन्नावां बाजार से अकबरपुर नगर के निकट भी कई जगह जगह सड़क गड्ढे में तब्दील है। सड़क बदहाल होने के चलते नंगे पांव चलने वाले श्रद्धालुओं को काफी मुश्किल होगी। इसके बावजूद प्रशासन इस तरफ ध्यान नहीं दे रहा है। स्थनीय राघवेंद्र प्रसाद, जगदीश तिवारी व विजय तिवारी आदि ने संगम तट पर सफाई कराने के साथ ही समय रहते प्रकाश व सुरक्षा व्यवस्था को मुकम्मल करने की मांग की है। उधर, एसडीएम पवन जायसवाल का कहना है कि समय रहते जरूरी व्यवस्थाएं बेहतर की जाएंगी।

Spread the love

Leave a Reply