Thu. Dec 1st, 2022

सिद्धार्थनगर। शिक्षा के साथ-साथ खेलकूद भी जीवन में बहुत आवश्यक है, क्योंकि खेल से ही छात्रों के चरित्र का निर्माण होता है। खेल मैदान चरित्र निर्माण की पाठशाला होती है और चरित्र निर्माण से ही आदर्श नागरिक का निर्माण होता है। आदर्श नागरिक ही देश की धरोहर है ।विद्या भारती शिशु शिक्षा समिति गोरक्ष प्रांत की ओर से रघुवर प्रसाद जायसवाल सरस्वती शिशु मंदिर इंटर कॉलेज तेतरी बाजार में आयोजित प्रांतीय खेलकूद समारोह में प्रांतीय संगठन मंत्री रामय ने ये बातें कहीं।
उन्होंने कहा कि विद्या भारती शिक्षा के क्षेत्र में संचालित देश का एक बड़ा शैक्षिक संगठन है, जो शिक्षा को परंपराओं से जोड़ने का काम कर रही है। यह हम सब के लिए गौरव का विषय है। सांसद जगदंबिका पाल ने कहा कि विद्या भारती के विद्यालय केवल शैक्षणिक ही नहीं बल्कि सांस्कृतिक एवं खेलकूद के क्षेत्र में भी देश में अग्रणी शिक्षण संस्थान है।

प्रधानाचार्य राकेश मणि त्रिपाठी ने बताया कि दो दिवसीय प्रतियोगिता में दस जिलों के करीब 750 बच्चे प्रतिभाग करेंगे। शिशु शिक्षा समिति के प्रांतीय मंत्री रामनाथ गुप्ता, विद्यालय के प्रबंधक हरे कृष्ण सिंह, प्रांतीय शारीरिक प्रमुख राकेश अग्रहरि, प्रबंध समिति सदस्य विपुल कुमार सिंह, मदन सिंह मौजूद थे।

Spread the love

Leave a Reply