Fri. Dec 2nd, 2022

भिलाई में हुई तीन साधुओं की पिटाई का मामला सियासी तूल पकड़ चुका है। ये घटना दो दिन पहले हुई। अब भाजपा ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था के आरोप लगाए। इसका जवाब शुक्रवार को भूपेश बघेल ने दिया। बस्तर दौरे पर रवाना होने से पहले भूपेश बघेल ने रायपुर के हेलीपैड पर मीडिया से बात की। उन्होंने भाजपा को घेरा। मुख्यमंत्री ने कहा- प्रदेश में जितनी भी बड़ी घटनाएं हुईं, पुलिस को सफलता मिली है। चाहे कोई भी हो बख्शा नहीं गया। अब और कैसा लॉ एंड ऑर्डर चाहते हैं भाजपा वाले, यूपी के जैसा। जहां मंत्री का बेटा मार दे और कोई कार्रवाई भी न हो, क्या उसी प्रकार का लॉ एंड ऑर्डर चाहते हैं। भाजपा शासित प्रदेशों में तो आम जनता के लिए अगल और भजापा नेताओं के लिए कानून अलग है। ये यहां नहीं होगा, कानून का राज चलेगा। CM का ये बयान सामने आते ही, भाजपा की तरफ से पूर्व मंत्री राजेश मूणत सामने आए। उन्होने कहा – मुख्यमंत्री का अपना नजरिया है। मगर अब प्रदेश में कहीं कट्‌टा चल रहा है तो कहीं चाकू। ये तो कॉमन बात हो गई। यहां तो अब मर्डर भी कॉमन घटना है, साधुओं पर हमले कॉमन हैं, गांजा-अफीम मिल रहा ,है ये भी कॉमन बात हो गई है। यूपी से तुलना कर रहे हैं, यहां कांग्रेसजनों को छत्तीसगढ़ की चिंता नहीं है।

डॉ. रमन पर बाेले अंगूर खट्‌टे हैं
भूपेश बघेल ने डॉ. रमन सिंह के बयान पर भी चुटकी ली। हाल ही में मीडिया के पूछे जाने पर डॉ. रमन सिंह ने कहा था कि उन्हें राज्यपाल बनने या दिल्ली जाकर क्रेंद की राजनीति में सक्रिय होने का मन नहीं, वो छत्तीसगढ़ में ही रहकर यहां की सेवा करना चाहते हैं, इस पर भूपेश बघेल ने कहा- अच्छा है अंगूर खट्टे हैं, लेकिन यहीं रहना चाहते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं रहें। बीजेपी की बैठक पर भी बोले सीएम भाजपा के गंगरेल रिजॉर्ट में हुई बैठक को लेकर भी मुख्यमंत्री ने बयान दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा के भीतर ही अविश्वास का वातावरण बन रहा है। मैंने तो सुना कि कुछ बड़े नेताओं को बुलाया ही नहीं गया। तो भाजपा के अंदर ही उनके बड़े नेताओं को इस बैठक से दूर रखा गया है। भाजपा में सब कुछ ठीक नहीं है, प्रभारी बदले हैं, अब गोपनीय बैठकें कर रहे हैं तो ये बहुत सारे संदेहों को जन्म देने वाली बात है।

Spread the love

Leave a Reply