Sat. May 25th, 2024

बैगलेस सुरक्षित शनिवार के अंतर्गत जुलाई माह की थीम “मैं हूं स्वच्छता प्रेमी” में स्वच्छता की जानकारी

APNI BAT

पटना: बिहार की राजधानी पटना स्थित शैक्षणिक अंचल गुलजारबाग के राजकीयकृत नवसृजित प्राथमिक विद्यालय दादरमंडी में बैगलेस सुरक्षित शनिवार के अंतर्गत जुलाई माह की थीम “मैं हूं स्वच्छता प्रेमी” के साफ-सफाई एवं स्वच्छता से सम्बंधित विभिन्न प्रकार की जानकारियां तथा बरसात के मौसम में पटना में डेंगू मच्छर के प्रकोप से बचने, डेंगू के लक्षण व उपचार सम्बंधित जानकारी शिक्षक सूर्य कान्त गुप्ता ने विद्यार्थियों को विस्तृत रूप से दिया। श्री गुप्ता ने बताया कि अभी बरसात का मौसम है। यत्र यत्र जल जमाव हो रहे हैं, जिसमें डेंगू सहित अन्य प्रकार के मच्छरों के लार्वा विकसित होते हैं। पटना में स्थिति अति गंभीर है। डेंगू से बचने के लिए हमें कूलर पानी की टंकी, पक्षियों के पीने की पानी का बर्तन, फ्रिज की ट्रे, फुलदान को प्रति सप्ताह खाली करना चाहिए तथा धूप में सुखाकर प्रयोग करना चाहिए। नारियल के खोल, टूटे हुए बर्तन, पुराने टायरों में पानी जमा नहीं होने दें। घरों के दरवाजे व खिड़कियों में जाली और परदे लगाएं। घर के आसपास पानी जमा नहीं होने दें। जमा पानी में किरासन तेल या एंटी लार्वा का छिड़काव करें। मच्छरदानी का उपयोग करें, फूल कपड़े पहनें। नगर निगम पार्षद से फॉगिंग करवाने को कहें। डेंगू के लक्षण में अचानक तेज सिर दर्द व तेज बुखार आना, मांसपेशियों एवं जोड़ों में दर्द रहना, आंखों के पीछे दर्द होना, आंखों को घुमाने से दर्द होना, जी मिचलाना, उल्टी होना, गंभीर मामलों में नाक मुंह मसूड़ों से खून आना, त्वचा पर चकत्ते उभरना हैं। डेंगू होने पर तत्काल नजदीकी चिकित्सक से संपर्क करें। तरल पदार्थ का सेवन करें। नारियल डाभ का सेवन काफी लाभदायक होता है। विद्यालय के प्रधान शिक्षक जीतेंद्र कुमार ने भी साफ-सफाई की महत्ता पर प्रकाश डाला एवं गंदगी से होने वाले विभिन्न रोगों के बारे में जानकारियां दी

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply