Tue. Jun 25th, 2024

सारण: जन सुराज पदयात्रा के दौरान सारण में एक आमसभा को संबोधित करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि आज बिहार में नेता जब जनता के बीच जाते हैं तो कुछ करे न करे दो सबसे ज्यादा जरूरी काम जरूर करते हैं। पहला, वो अपने विरोधियों को गाली देते हैं। दूसरा, जनता को लालच देते हैं कि उनके लिए कौन सा काम वो करने वाले हैं।

पीके ने कहा कि जनता को बता रहे हैं कि जब तक जनता जागरुक नहीं होंगे तब तक वह कुछ भी काम नहीं कर सकेंगे। आज आपके बीच नाली-गली, राशन कार्ड बांटने नहीं आया, न ही आपके बीच दूसरे पार्टी के नेताओं की तरह खरी-खोटी सुनाने आया। आज आपसे जानने आया कि मान लीजिए दूसरे पार्टी के नेता चाहे वो कॉंग्रेस के हो या लालू-नीतीश या फिर भाजपा जो दावा करती है कि बिहार के लिए उन्होंने बहुत कुछ किया है। मान भी लेते हैं कि देश के आजाद होने के बाद उन्होंने बिहार के विकास के लिए बहुत कुछ किया है। मगर मेरे हीं नहीं सबके मन में सवाल उठता रहा होगा कि इतना काम करने के बाद भी बिहार देश का सबसे पिछड़ा, गरीब और अशिक्षित भुखमरी वाला राज्य अबतक कैसे बना हुआ है ? आज अगर बिहार देश होता तो विश्व का छठवां सबसे गरीब देश होता। आज बिहार देश का सबसे ज्यादा बेरोजगार वाला राज्य है, जो बात आप सभी बिहार की जनता को मालूम है और आपसे कुछ छिपी हुई नहीं है।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply