Mon. Jul 15th, 2024

दुर्ग जिला में स्थित विज्ञान विकास केंद्र में रह रही बीएससी सेकंड ईयर की विद्यार्थी ने खुदकुशी कर ली है। इस मामले में पुलिस और हॉस्टल अधीक्षक का कहना है कि लड़की की मौत दवा का अधिक खुराक लेने से हुई है। मां के मुताबिक हॉस्टल में लड़की के पास इतनी मात्रा में दवा आई कहां से, उन्होंने छात्रावास की इंतज़ाम  और कर्तव्य पर सवाल उठाते हुए न्याय की मांग की है।

पद्मनाभपुर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक उनके पास आदिवासी छात्रावास से रविवार सुबह 9 बजे फोन आया था कि हेमलता मंडावी पिता कार्तिराम ने कुछ खा लिया है। उसे 112 की मदद से जिला अस्पताल पहुंचाया गया। वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस मौके पर पहुंची और पंचनामा कार्रवाई के बाद शव पीएम के लिए भेज दिया।डॉक्टरों ने बताया कि लड़की ने दवा का अधिक खुराक खा लिया और काफी देर तक किसी को कुछ नहीं बताया। इससे उसकी तबीयत बिगड़ी और उसकी मौत हुई। पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। मामले में अधीक्षक निशा बांधे और मृतिका की मां गिरजा बाई से चर्चा कर   लिया है। हॉस्टल में रह रहे बच्चों से भी पूछताछ की जा रही है।

Spread the love

Leave a Reply