Sun. Nov 27th, 2022

नहाय खाय की रस्म से शुरू हुए छठ पर्व के तीसरे दिन रविवार शाम को सुहागिनों ने डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य देकर छठी मैया का आशीर्वाद लिया। अन्न दिहले, धन दिहले, वंश बढ़इले ना, बबुआ होई हमके त हम छठ करबो ना जैसे मंगल गीतों से दुर्ग भिलाई के छठ तालाब गूंज उठे।

हर साल की तरह इस बार भी कुरुद तालाब में खरना पूजा के बाद कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को डूबते सूर्य को पहला अर्घ्य दिया गया। चार दिनों तक चलने वाला ये पावन पर्व सोमवार को उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के बाद पूरा हो जाएगा। अपनी संतान और घर परिवार के सुख-सौभाग्य की कामना रखते हुए व्रतधारी महिलाओं ने छठी मैया की विशेष रूप से पूजा की। इस दौरान छठी मइया को फल फूल चढ़ाए गए। बच्चों ने जमकर पटाखा फोड़ा। छठ पर्व को देखते हुए तालाब को आकर्षक तरीके से सजाया गया। जगह जगह स्टॉल लगाए गए। इस दौरान कई महिलाओं ने अपने पति के साथ मिलकर तालाब में छठी मइया का आशीर्वाद लिया। छठ त्यौहार के दौरान बच्चों ने खूब मस्ती की। पटाखे फोड़े गए। स्टॉल से खाने का समान खरीदा। छठ की भीड़ को देखते हुए समिति के लोगों ने भी यहां अच्छा इंतजाम किया है। पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था भी की गई।

छठ पर्व के मौके पर कुरुद तालाब में अक्षरधाम कॉलोनी के लोगों ने मिलकर खिचड़ी का भोग प्रसाद बनाया। इसके बाद इसे लोगों को बांटा गया। भोग प्रसाद पाकर लोग काफी प्रसन्न हुए। कॉलोनी के लोगों का कहना है कि वह कोशिश करेंगे की हर साल इसी तरह अपना सहयोग देकर छठी माई का आशीर्वाद लें।

साल 2023 के चुनाव को देखते हुए नेताओं ने भी सिरकत की। मंच पर आसीन होकर उन्होंने लोगों को छठ पर्व की बधाई दी। इस दौरान वैशाली नगर विधान सभा में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए कांग्रेस के नेताओं ने काफी समय दिया है। एमआईसी मेंबर और पार्षद रीता सिंह गेरा ने बकायदा यहां अपना फ्लैक्स बैनर भी लगाया। वह इस बार वैशाली नगर विधान सभा से कांग्रेस से दावेदारी करेंगी। वहीं देर रात तक भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव के बड़े भाई धर्मेंद्र यादव भी तालाबों की व्यवस्था में लगे रहे।

Spread the love

Leave a Reply