Thu. Dec 1st, 2022

मां ने बताया कि खेलने के बाद वह शाम को अपने दोस्त ईश्वर साहू के साथ वापस आ रहा था। ईश्वर रास्ते से अपने घर चला गया, पर समीर अपने घर नहीं पहुंचा। वह रहस्यमय ढंग से गायब हो गया।काफी तलाश के बाद भी जब समीर का पता नहीं चला।

ग्राम रुदा निवासी खिलेश्वर साहू का 11 वर्षीय पुत्र समीर उर्फ संतू साहू 21 अक्टूबर की शाम लापता हो गया था। चार दिन की तलाश के बाद 24 अक्टूबर को उसकी लाश गांव के नर्सरी के पास मिली। लाश सफेद बोरे में बंद थी। मृतक समीर साहू की मां हितेश्वरी साहू ने बताया कि रोज स्कूल के आने के बाद समीर शाम को खेलने जाया करता था। घटना के दिन शाम पांच बजे घर से खेलने गया था। अपने दोस्तों के साथ गोठान के पास खेल रहा था। खेलने के बाद वह शाम को अपने दोस्त ईश्वर साहू के साथ वापस आ रहा था। ईश्वर रास्ते से अपने घर चला गया, पर समीर अपने घर नहीं पहुंचा। वह रहस्यमय ढंग से गायब हो गया।काफी तलाश के बाद भी जब समीर का कहीं कुछ पता नहीं चला तब अंडा थाने में शिकायत दर्ज कराई गई। रुदा हत्याकांड में पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू बुधवार को पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे। उन्होंने जल्द से जल्द मामले का पर्दाफाश करने के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिए। बढ़ते अपराध पर भी चिंता जताई। वहीं पुलिस ने दावा किया है कि आरोपित जल्द पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

पुलिस ने भी क्षेत्र में खोजबीन शुरू की। जिसमें 24 अक्टूबर को सुबह नौ बजे सूचना मिली की नदी किनारे कोटवार की भर्री जमीन हैं । उसी के पास बांस नर्सरी में प्लास्टिक की सफेद बोरी में लाश मिली है। पुलिस ने परिजनों को बुलाकर मृतक समीर उर्फ संतू साहू की शिनाख्त कराई। मौके पर क्राइम ब्रांच, अंडा पुलिस, डाग स्क्वायड ने पहुंचकर जांच शुरू की। एडिशनल एसपी ग्रामीण अनंत राम साहू, एसडीओपी पाटन देवांश राठौर, थाना प्रभारी अंबिका प्रसाद धुर्वे,क्राइम ब्रांच की टीम भी मौके पर पहुंचकर जांच में जुटे रहे। 24 अक्टूबर को समीर की लाश मिली।दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के विधायक व गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे। मृतक समीर साहू को पुष्पांजलि दी। परिवार को सांत्वना दिया। कहा यह गंभीर मामला है। पूरे घटनाक्रम पर पुलिस की पल-पल नजर बनाए रखे हुए है। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी।

Spread the love

Leave a Reply