Fri. Dec 2nd, 2022

दशहरा का पर्व हर साल अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है. इस साल दशहरा 5 अक्टूबर को है. इस दौरान कुछ उपायों को करने से शत्रु पराजित होते हैं.

दू पंचांग के अनुसार अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा का पर्व मनाया जाता है. इसे विजय दशमी के नाम से भी जानते हैं क्योंकि कि त्रेता युग में इसी तिथि को भगवान राम ने लंका के रावण को पराजित कर बुराई पर अच्छाई की जीत दर्ज की थी. धार्मिक मान्यता है कि इस तिथि को विधि विधान से पूजा कर ये उपाय करने से घर में सुख-समृद्धि का वास होता है और शत्रु पराजित होते हैं. हर क्षेत्र में विजय प्राप्त होती है.  

दशहरा को करें ये उपाय

  1. दशहरा के दिन शमी के पेड़ के पास दीपक जलाए तथा भगवान राम का ध्यान करें. मान्यता है कि ऐसा करने से शत्रु पराजित होते हैं. कोर्ट कचेहरी के सभी तरह के मुकदमों में विजय प्राप्त होती है. शमी के पेड़ के नीचे दीपक जलाने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है.
  2. दशहरा के दिन मध्यान्ह शुभ मुहूर्त में माता रानी की पूजा करें और 10 प्रकार के फल अर्पित करें. फल अर्पित करते समय ॐ विजायये नमः का जाप करते रहें. पूजन के बाद इसे ग़रीबों में बांट दें. इससे हर क्षेत्र में विजय मिलेगी. व्यापार और नौकरी में आ रही सारी परेशानी दूर होगी.
  3. दशहरा या विजयदशमी के दिन नीलकंठ का दर्शन करें. मान्यता है कि ऐसा करने से शत्रु पराजित होते हैं.
  4. दशहरा की शाम को माता की लक्ष्मी का ध्यान करते हुए किसी मन्दिर में जाकर झाड़ू दान दें. इसे घर में सुख- समृद्धि आती है.
  5. दशहरा के दिन साबूत पानी वाला एक नारियल लेकर अपने सिर के चारों तरफ 21 बार घुमा लें. अब इसे दशहरा के रावण दहन की अग्नि में डाल दें. मान्यता है कि ऐसा करने से आपके सारे रोग ठीक हो जायेंगे.
  6. दशहरे के दिन सुन्दर काण्ड का पाठ करने से सभी रोग और मानसिक परेशानियां दूर हो जाएंगी.
Spread the love

Leave a Reply