Sat. Feb 4th, 2023

शारदेय नवरात्र पर संस्कारधानी धर्मधानी बनी हुई है। चहुंओर माता आदिशक्ति की आराधना का माहौल है। आज दुर्गाष्टमी है। इस मौके पर विभिन्न देवी मंदिरों में खास-पूजन अर्चन हुए। लोगों ने अठवाइयां चढ़ाईं और अपने परिवार की सुख-समृद्धि के लिए मातारानी से आशीर्वाद मांगा।

शारदेय नवरात्र पर संस्कारधानी धर्मधानी बनी हुई है। चहुंओर माता आदिशक्ति की आराधना का माहौल है। आज दुर्गाष्टमी है। इस मौके पर विभिन्न देवी मंदिरों में खास-पूजन अर्चन हुए। लोगों ने अठवाइयां चढ़ाईं और अपने परिवार की सुख-समृद्धि के लिए मातारानी से आशीर्वाद मांगा। दुर्गाष्टमी के बाद प्रतिमा-दर्शन के लिए केवल एक ही दिन शेष रह जाता है, इसलिए आज शहर की सड़कों पर बीते दिनों के मुकाबले लोगों की अधिक भीड़ उमड़ सकती है। दुर्गाष्टमी के मौके पर सभी दुर्गा पंडालों एवं देवी मंदिरों भंडारों का आयोजन किया गया। देवी स्वरूपा कन्याओं के चरण पखारे गए। इस मौके पर आयोजित भंडारों में बड़ी संख्या में धर्मप्रिय जनों ने प्रसाद ग्रहण किया। इससे पूर्व सप्तमी की देर शाम से ही शहर की सड़कों पर जनमेदनी उमड़ने लगी। देर रात तक लोग दुर्गा प्रतिमाओं के दर्शन में लीन रहे। नवरात्र के अवसर पर होने वाली दुर्गा पूजा और यहां उमड़ने वाली धर्मालुजनों की जनमेदनी देश भर में प्रसिद्ध है। सप्तमी रविवार को होने की वजह से शहर की सड़कों पर जनसैलाब जैसा नजारा रहा। अवकाश और त्यौहार का उत्साह चरमोत्कर्ष पर होने की वजह से लोग पैदल, दुपहिया वाहन और चार पहिया वाहनों पर सवार होकर दुर्गा प्रतिमाओं का दर्शन करने के लिए निकले। सभी दुर्गा पंडालों के पास बड़ी संख्या में लोगों की मौजूदगी रही।

Spread the love

Leave a Reply