Thu. Dec 1st, 2022

दुर्ग। बोरसी वृंदानगर से बीज निगम जोन कार्यालय रुआबांधा तक लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़क निर्माण कराया जा रहा है। नौ करोड़ 94 लाख रुपये की लागत से ढाई किमी लंबी और सात मीटर चौड़ी सड़क का निर्माण जुलाई 2021 से प्रारंभ किया गया है। निर्माण कार्य छह महीने में पूरा करना था। लेकिन कोरोना की वजह से निर्माण कार्य समय पर नहीं बताया जा रहा है । वर्तमान में सड़क में छोटे-बड़े सैकड़ों गड्ढे हैं। जिसमें बारिश का पानी भर जाता है। वहीं बारिश नहीं होने पर सड़क से धूल की गुबार उड़ती है। इस मार्ग से रोजाना करीब आठ से दस हजार लोग आना जाना करते हैं। दुर्ग से भिलाई पहुंचने का यह आसान रास्ता है। सड़क डामरीकरण का काम अब बारिश के बाद ही पाएगा। तब तक इस सड़क पर आवागमन करने वालों को हिचकोले खाने पड़ेंगे और धूल का गुबार भी सहना पड़ेगा। बोरसी से रूआबांधा तक सड़क चौड़ीकरण की मांग करीब 10 साल से की जा रही थी। वर्ष 2019 में इसके लिए प्रस्ताव तैयार किया गया लेकिन स्वीकृति मिलने में भी समय लग गया। नौ करोड़ 94 लाख की लागत वाली ढाई किमी लंबी इस सड़क को सात मीटर चौड़ा बनाया गया है। पहले इसकी चौड़ाई तीन मीटर थी। चौड़ीकरण के लिए सड़क किनारे अतिक्रमण कर बनाए गए कुछ लोगों के मकान के हिस्से को भी तोड़ा गया। सड़क निर्माण के लिए भूमिपूजन जुलाई 2021 में किया गया और इसके साथ ही इसका निर्माण भी शुरू हो गया। निर्माण कार्य छह महीने में पूरा करना था। लेकिन कोरोना की वजह से निर्माण कार्य अवरूद्ध रहा। जिसका खामियाजा इस मार्ग से रोजाना गुजरने वाली आठ से दस हजार जनता को भुगतना पड़ रहा है। निर्माणाधीन सड़क पर सैकड़ों गड्डे हैं। चार से छह इंच गहराई वाले गड्डों मे बारिश का पानी भर जाता है। मार्ग में स्ट्रीट लाईट भी नहीं है। इस कारण रात के समय आवागमन मुश्किल हो गया है। वहीं बारिश नहीं होने पर सड़क पर धुल की गुबार उड़ती है। धुल ऐसे कि सामने कुछ भी नजर नहीं आता। सड़क के डामरीकरण का काम ही शेष ही रह गया। जो बारिश खत्म होने के बाद किया जाएगा। बारिश बीतने में अभी सवा महीना बाकी है।

Spread the love

Leave a Reply