Mon. May 27th, 2024

बिहार राज्य आशा संघ एटक पश्चिम चम्पारण का सीएस के समक्ष प्रदर्शन


बेतिया: बिहार राज्य आशा संघ एटक पश्चिम चम्पारण ने 16 सूत्री मांगों को लेकर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी के समक्ष विशाल प्रदर्शन किया। उपर्युक्त प्रदर्शन में आशा, आशा फैसलिटेटर, ममता, कुरियर, संविदा की एएनएम शामिल रही। प्रदर्शनकारी बेतिया बलिराम भवन से जुलूस के रुप में निकल कर बेतिया के विभिन्न मार्गो से होते हुए, सिविल सर्जन कार्यालय पहुचे, जहाँ प्रभारी सीएस एवं आशा डीसीएम को मांग पत्र सौपते हुए 28 जुलाई 2023 से हड़ताल में जाने की घोषणा किया। आशा, आशा फैसलिटेटर, ममता, कुरियर, संविदा के एएनएम की सेवा स्थायी करने, सेवा निवृत्ति के बाद एक मुश्त 10 लाख रुपये का भुगतान करने, सेवा अवधि में मृत्यु होने पर अनुकम्पा का लाभ देने, सेवा निवृत्ति की उम्र 65 वर्ष करने, कमीशन के बदले मानदेय देने, मृत आशा के परिजनों को 4 लाख की जगह 10 लाख का भुगतान करने, आशा के ड्रेस की राशि 1150 से बढाकर 2000 हजार रुपए करने, कोरोना काल के प्रोत्साहन राशि का भुगतान करने, आशा, एएनएम, आशा फैसलिटेटर को मूल्यांकन के नाम पर प्रताड़ित करने पर रोक लगाने की मांग कर रहे दिखे। प्रदर्शन का नेतृत्व बिहार प्रदेश के कार्यकारी अध्यक्ष ओम प्रकाश क्रांति, साधना देवी, बेनू देवी, पुष्पा देवी, सरोज, रंजना, शबनम खातून, रंजीता देवी, सरोज, राधामोहन यादव, केदार चौधरी, बब्लू दूबे, परशुराम ठाकुर, देवेन्द्र नाथ, कुमुद ने किया। आशा सरकार से आर पार की लड़ाई लडने के मूड में हैं, प्रांतीय कार्यकारी अध्यक्ष ओम प्रकाश क्रांति ने आशा से अनुशासन में रह कर अपने अधिकार के लिए आंदोलन करने का आह्वान किया।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply