Mon. May 27th, 2024

कोविड़ 19 महामारी के बाद भारत में कारो के  ब्रिकी में 16 प्रतिशत की बढ़ोतरी कई संकेत देती है। स्पोट्र्स यूटिलिटी वाहनों की बढती लोकप्रियता ने टेड को आगें बढ़ाया है। कई लोगो के लिए आँटोमोबाइल बूम देश की सुपरफास्ट आर्थिक तरक्की का प्रतीक है। लंबी गिरावट के बाद दोपहिया वाहनों की बिक्री भी तेज होने लगा है। 2022 के अंतिम तीन माह में होने  में भारत का जीडीपी 4.4 प्रतिशत रहा। वैसे यह पिछले तीन माह में होने के 6.3 प्रतिशत से कम है। धीमी गति के बावजूद अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष का अनुमान है। कि 2023 में भारत तेजी से बढता प्रमुख अर्थव्यवस्था रहेगा।

सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी मानता है। कि देश अमृतकाल के दौर से गुजर रहा है। लेकिन समीक्षक के लिए कारों की बढ़ती बिकने का भारत के आर्थिक विकास की एकतरफ तस्वीर दिखाता है। स्कूटर और मोटरगाडी जैसे दोपहिया वाहनों की बिक्री 2019 के बाद 15 प्रतिशत कम हुआ है।

Spread the love

Leave a Reply