Tue. May 21st, 2024

विशेषज्ञों ने सिविल सेवा परीक्षा में गुणवत्तापूर्ण पुस्तकों के चयन पर चर्चा 

 

पटना। लोक सेवा परीक्षा में सफलता के लिए कठिन परिश्रम के साथ गुणवत्तापूर्ण पुस्तकों का चयन अति आवश्यक है। वर्तमान परिस्थिति में इंटरनेट पर पठन सामग्रियों की भरमार है। कई बच्चे इसमें उलझ कर रहे जाते हैं। ऐसे में प्रतिभागियों को पठन सामग्री का चयन उसी प्रकार करें, जैसे मार्केट में कोई सामग्री खरीदने के समय करते हैं। उपर्युक्त विचार पटना विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एवं भूगोल विषय के विद्वान प्रो.आर.बी. सिंह ने रविवार को ‘सिविल सेवा की तैयारी में ‘गुणवत्तापूर्ण पुस्तकों का चयन’ विषय पर आयोजित गोष्ठी में व्यक्त किया। अभियान-40 (आईएएस) के बोरिंग रोड शाखा में आयोजित इस सेमिनार में आईपीएस के पदाघिकारी व बिहार के एडीजी पारसनाथ, वरिष्ठ आईएएस अधिकारी व गन्ना आयुक्त गिरिवर दयाल सिंह, पीएमसीएच में हृदय रोग विभाग के अध्यक्ष प्रो. बी.पी.सिन्हा, ब्रिगेडियर ए.के. सिंह, बीपीएससी के पूर्व सदस्य प्रो. डीएनए शर्मा समेत बड़ी संख्या में विशषज्ञ शामिल हुए। इस मौके पर पूर्व अपर आयुक्त, जीएसटी डॉ. एन. के. सिंह की पुस्तक का भी विमोचन किया गया। उन्होंने कहा कि यह पुस्तक सिविल सेवा की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों के लिए अति लाभदायक होगा। इस अवसर पर वरिष्ठ आईएएस पदाधिकारी गिरिवर दयाल सिंह ने कहा कि यह आवश्यक नहीं कि सिविल सेवा में सफलता प्राप्त करने के लिए वह कॉलेज का टॉपर ही हो। यदि ऐसा होता तो सभी कॉलेज में टॉप करने वाले ही आईएएस बनते, जबकि वास्तव में ऐसा नहीं है। एक अध्ययन में देखा गया है कि बहुत सारे विद्यार्थी प्रारम्भ दिनों में पढ़ाई में श्रेष्ठ रहे, कुछ विशेष उपलब्धि नहीं प्राप्त कर सके। उनके साथ पढ़ने वाले कमजोर विद्यार्थी बहुत आगे निकल गए। ऐसे में, अभी तक की असफलता से आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है। आप सही दिशा में लगातार और कठिन परिश्रम करें, सफलता आपके कदम चूमेगी। आईपीएस पदाधिकारी व बिहार के एडीजी पारसनाथ ने प्रतिभागियों को सफलता के लिये कठिन परिश्रम करने का परामर्श दिया। संस्थान के संस्थापक सह राष्ट्रीय अध्यक्ष बिलास कुमार ने बताया कि गौतम बुद्धा ग्रामीण विकास फाउंडेशन मानवाधिकार के लिए सतत् संघर्षरत रहा है तथा उसका पटना, लखनऊ तथा दिल्ली में अभियान 40 (आईएएस) नाम से कक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है, जिसमे समाज के प्रतिभाशाली प्रतियोगियों को सिविल सर्विसेज की तैयारी कराई जाती है।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply