Tue. May 21st, 2024

हेमचंद  विश्वविद्यालय की परीक्षा के दौरान भिलाई के एक निजी कॉलेज में एक छात्र को मोबाइल से नकल करते हुए पकड़ा गया। और  मोजे में मोबाइल छिपाकर रखा था। बार-बार झुकने से कक्ष जाँच-पड़ताल करने वाला को शक हुआ तो उसकी धरने या पकड़ने  की गई। इसी तरह दुर्ग में एक और कवर्धा में एक परीक्षार्थी मोबाइल में नकल सामग्री की पीडीएफ डाउनलोड कर नकल कर रहे थे। तीनों परीक्षार्थी कार्रवाई के दौरान मोबाइल जमा करने से मना कर रहे थे।

परीक्षार्थियों का कहना था कि उनका मोबाइल 70 से 75 हजार रुपए से अधिक का है। इसमें सारे महत्वपूर्ण भौतिक रखे हैं। समझाने के बाद छात्र माने और मोबाइल जब्त कर दूसरा भेजा गया।  देखभाल करने वाला छात्र कल्याण डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव ने बताया कि तीनों नकलचियों को कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी कर रहे प्राध्यापकों ने ही नकल करते हुए पकड़ा था। विवाद की स्थिति की जानकारी दी थी। इसके बाद आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। इन सभी प्रकरणों को यूएफएम के प्रकरणों के निराकरण के दौरान नकल समिति के सामने रखा जाए। इसमें नकल की प्रकृति के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Spread the love

Leave a Reply