Tue. May 21st, 2024

 

पटना : केन्द्रीय बजट में बिहार की घोर उपेक्षा, संघीय व्यवस्था पर निरंतर हमला, बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और पैकेज नहीं मिलना, गैर भाजपा शासित राज्यों के साथ सौतेलेपन का व्यवहार, भाजपा ने बिहार में जुमलेबाजी तथा झांसा देकर लोकसभा में जो वोट लिया, उसका अनादर, भाजपा तथा उसके सहयोगी दल के सांसदों के बिहारहित पर चुप्पी साधने, समाजवाद तथा सेक्यूलिजम पर विश्वास करने वाली ताकतों की एकजुटता के साथ उन्मादी, जुमलाबाजी और संविधान विरोधी कार्य करने वाली शक्तियों के विरुद्ध महागठबंधन के शीर्ष नेता के निर्णय लिया। उनके निर्णयोपरांत यह निर्णय लिया गया कि दिनांक 25 फरवरी, 2023 को सीमांचल के पूर्णियां रंगभूमि मैदान में महागठबंधन की एकजुटता रैली आयोजित की जाएगी। उपर्युक्त जानकारी बुधवार को राजद के संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में महागठबंधन के नेताओं ने संबोधित करते हुए दी। उपर्युक्त रैली को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, महागठबंधन के सभी नेता संबोधित करेंगे।
इस अवसर पर राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह ने कहा कि इस रैली में पूर्णिंया, किशनगंज, अररिया, कटिहार के अलावा सुपौल, मधेपुरा, सहरसा और भागलपुर जिला के नेता और कार्यकर्ता के साथ-साथ गरीब, वंचित समाज को जोड़ने वाले सभी वर्ग के लोग शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार साम्प्रदायिक और उन्मादी शक्तियों ने देश और राज्य में माहौल खराब करने की साजिश किया है उसके विरुद्ध सभी को एकजुट होकर, वैसी ताकतों को जवाब देने की आवश्यकता है।
इस अवसर पर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कहा कि जुमलेबाजी और आश्वासन के अलावा केन्द्र की भाजपा सरकार कुछ नहीं कर रही है। भाजपा बिहार में सत्ता से बेदखल होने के बाद बेचैन और हताश है। रंगभूमि मैदान की रैली से परिवर्तन का आगाज होगा।
इस अवसर पर कांगे्रस के पूर्व अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा ने कहा कि देश का माहौल जिस तरह से भाजपा ने बना दिया है, उसके खिलाफ कांगे्रस और महागठबंधन लगातार कार्य कर रहे है। बिहार से जो परिवर्तन हुआ है, वह आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा। महागठबंधन एकजुट होकर सच्चाई को उजागर करेगी और झूठ का पर्दाफाश होगा। इस अवसर पर सीपीआईएमएल के के डी यादव ने कहा कि सीमांचल के इलाके से नफरत और फासिस्ट ताकतों के खिलाफ जो रैली होगी ये एक बड़ी रैली होगी जिसमें संविधान, लोकतंत्र को बचाने का संकल्प लिया जायेगा। सीपीआई के विजय नारायण मिश्र ने कहा कि महागठबंधन की रैली का उद्देश्य साम्प्रदायिक विभाजन की राजनीति को जवाब देना है। देश और सूबे की जनता साम्प्रदायिक भावना के विरुद्ध सदैव रही है। सीपीआई एम के सर्वोदय शर्मा ने कहा कि भाजपा बेचैनी में कुचक्र और षड्यंत्र से माहौल खराब करना चाहती है। पूर्णियां की रैली देश में परिवर्तन की सूत्रपात करेगा। राजद के प्रदेश प्रधान महासचिव आलोक कुमार मेहता ने कहा कि बिहार के अन्दर साम्प्रदायिक शक्तियों को नहीं बढ़ने देने का जो संकल्प है इस रैली के बाद वैसी शक्तियां हासिये पर चली जायेगी, जो नफरत फैलाने का काम करते हैं। ‘

महागठबंधन की 25 फरवरी 23 को पूर्णियां के रंगभूमि मैदान में रैली
पत्रकार सम्मेलन में नेतागण

हम’ के राष्ट्रीय महासचिव डाॅ शशि कुमार ने कहा कि महागठबंधन की रैली में पार्टी के सभी नेता, कार्यकर्ता शामिल होंगे और इस रैली से संविधान बचाने और समाज में बिखराव को समाप्त करने में महती भूमिका अदा करेगी। उसके बाद संवाददाता सम्मेलन में राजद के प्रदेश प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव, एजाज अहमद, संगठन महासचिव राजेश यादव, ‘हम’ पार्टी के पूजा सिंह सहित अन्य गणमान्य नेतागण भी उपस्थित रहे। उपर्युक्त जानकारी एजाज अहमद, प्रदेश प्रवक्ता राजद, बिहार ने मीडिया को दी।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply