Sat. Jan 28th, 2023

किशोर – किशोरियों के लिए सिर्फ एक ही उत्सव नहीं, बल्कि सम्पूर्ण जीवन ही उत्सव हो, इसके लिए कार्य करें  : कुंदन कुमार 

जिला में कूट-कूट कर भरी हैं प्रतिभा, निखारने की आवश्यकता  

बेतिया। सांस्कृतिक कार्य, कला संस्कृति एवं युवा विभाग, बिहार एवं जिला प्रशासन, पश्चिम चम्पारण के संयुक्त तत्वाधान में उत्साह एवं उमंग के साथ आज जिलास्तरीय युवा उत्सव कार्यक्रम प्रदर्श कला एवं चाक्षुष कला प्रतियोगिता का भव्य आयोजन स्थानीय प्रेक्षागृह में किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत से लेकर समाप्ति तक प्रेक्षागृह तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजता रहा। जिला पदाधिकारी कुंदन कुमार ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया। इस अवसर पर सहायक समाहर्ता शिवाक्षी दीक्षित, उप विकास आयुक्त अनिल कुमार, अपर समाहर्ता अनिल राय, एसडीएम बेतिया विनोद कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी रजनीकांत प्रवीण, वरीय उप समाहर्ता रवि प्रकाश, पूर्णिमा कुमारी, सुजीत बरनवाल उपस्थित रहे। इस अवसर पर जिला पदाधिकारी ने कहा कि जिलास्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी बच्चों को बधाई और शुभकामनाएं। उन्होंने कहा कि बच्चों की प्रतिभा को निखारने के लिए स्टेट ऑफ द आर्ट मंच प्रदान किया जा रहा है। सभी बच्चे सिर्फ जिलास्तर, राज्यस्तर पर ही नहीं बल्कि राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भी अपना परचम लहरायें और पश्चिम चम्पारण जिला का नाम आलोकित करें।उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए सिर्फ एक ही उत्सव नहीं हो, बल्कि उनका पूरा जीवन ही उत्सव से भरा हो, इसके लिए सभी को समन्वित होकर कार्य करना होगा। जिले के बच्चों में विभिन्न प्रतिभाएं कूट-कूट कर भरी हुई है, आवश्यकता है उसे निखारने की। बच्चों की प्रतिभाओं को निखार कर राज्य ही नहीं अपितु राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मंच प्रदान कराना लक्ष्य रखें और इस दिशा में विशेष कार्ययोजना बनाकर कार्य करें।

डीएम ने उदाहरणस्वरूप सड़क पर पड़े पत्थर को बेशकीमती मूर्ति में तब्दील करने वाली उत्साहवर्धक कहानी की चर्चा कर नई पीढ़ियों के अच्छे एवं स्वर्णिम भविष्य के लिए प्रयास करने को कहा। उन्होंने कहा कि दुनिया काफी तेजी के साथ आगे बढ़ रही है। नई तकनीक ग्रहण करते हुए बदलते विश्व के साथ कदमताल करना होगा। उन्होंने कहा कि नई पीढ़ियों के उज्ज्वल भविष्य के लिए जिला प्रशासन संसाधनों की कमी नहीं होने देगा। सभी संभव प्रयास कर नई पीढ़ी के स्वर्णिम भविष्य के लिए, अभिभावक भी अपने संतान की प्रतिभा को समझें और उसे निखारने में सकारात्मक पहल करें। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उप विकास आयुक्त अनिल कुमार ने कहा कि प्रखंडों में अपनी प्रतिभा को दर्शाते हुए जिलास्तर पर आप सभी प्रतिभागी पहुंचे हैं। राज्य स्तर पर होने वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे और जिला का नाम आलोकित करेंगे। उन्होंने कहा कि यहां तक पहुंचने वाले सभी प्रतिभावान प्रतिभागी है। असफल होने वाले को निराश नहीं हो, यहां से सीख कर जायें तथा और अधिक अच्छा प्रदर्शन करें। इस क्रम में चाक्षुश प्रतियोगिता मे शामिल प्रतिभागियों की बनायी गयी विभिन्न कलाकृतियों का डीएम ने अवलोकन किया तथा उनसे जानकारी प्राप्त किया। कार्यक्रम की समाप्ति के उपरांत निर्णायक मंडल ने अपना निर्णय सुनाया। इसके अंतर्गत प्रदर्श कला एवं चाक्षुस कला में सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागी को जिला पदाधिकारी ने प्रशस्ति पत्र एवं मेडल देकर सम्मानित किया।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply