Sat. Jan 28th, 2023

पदाधिकारियों एवं कर्मियों ने संविधान की प्रस्तावना पाठ किया

बेतिया। पश्चिम चम्पारण जिला में संविधान दिवस के अवसर पर जिला मुख्यालय स्थित समाहरणालय सभाकक्ष में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इज क्रम में जिला पदाधिकारी कुंदन कुमार ने कहा कि 26 नवंबर 1949 को स्वतंत्र भारत को एक संविधान मिला, 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा ने भारत के संविधान को अपनाया। जिसे 26 जनवरी 1950 को भारत गणराज्य में लागू किया गया। उन्होंने कहा कि नागरिकों के बीच संवैधानिक मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिवर्ष 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है। भारतीय संविधान कई दृष्टिकोण से विश्व के अन्य देशों के संविधान से अलग है, लेकिन विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान होना, इसे अन्य देशों से विशिष्ट बनाता है। इस अवसर पर पदाधिकारियों एवं कर्मियों द्वारा संविधान की प्रस्तावना को पढ़ा गया जो इस प्रकार है ‘हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, विचार, अभियक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त कराने के लिए तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखंडता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए दृढ़संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में आज तारीख 26 नवंबर, 1949 ई0 को एतद् द्वारा इस संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं’।

इस अवसर पर उप विकास आयुक्त अनिल कुमार, अपर समाहर्ता राजीव कुमार सिंह, अनिल राय सहित सभी जिलास्तरीय पदाधिकारी एवं समाहरणालय के सभी कार्मिक उपस्थित रहे।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply