Sun. Nov 27th, 2022

जमीन के विवाद में साथी को पीटे जाने से नाराज वकीलों ने करीब 3 बजे में मुंसिफी के सामने सड़क पर जाम लगा दिया
इससे 1 घंटे तक आवागमन बाधित रहा सीओ और कोतवाली पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई का भरोसा देकर जाम खुलवाया। मुंसिफ कोर्ट के पीछे रजनीकांत पुत्र महेश कुमार का एक प्लॉट है। यह प्लॉट उसने अधिवक्ता असित कुशवाहा के परिजनों से खरीदा था। गुरुवार को रजनीकांत इस प्लॉट पर निर्माण कर रहा था।

कुछ सामान लेकर ट्रैक्टर उस प्लॉट पर जा रहा था। तभी उसे रोका। इसमे दोनों पक्षों में बहेस हो गया और मारपीट शुरू हो गया । रजनीकांत पक्ष के लोगों ने असित के घर में तोड़फोड़ कर वहां रखा गाड़ी व अन्य सामान तोडफोड कर दिया। असित की पिटाई कर दी। मारपीट में अभिषेक, असित, अमित, असित की दादी फूलारानी व दूसरे पक्ष के रजनीकांत घायल हो गए। मुंसिफ कोर्ट परिसर के पास साथी की पिटाई से गुस्साए वकीलों ने उरई रोड पर जाम लगा दिया। काफी देर बाद पुलिस पहुंची तो वकील पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाने लगा । सीओ शैलेंद्र कुमार कोतवाल बलिराज शाही पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। कार्रवाई के आश्वासन पर वकील हटे। दोनों पक्ष ने रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। जाम में कई रूटों की सवारी बसें व अन्य वाहन फंसे रहे। स्कूली वाहनों के जाम में फंसने से एक घंटे बच्चे
उरई डिस्ट्रिक्ट जालौन बार एसोसिएशन की बैठक में कोंच के अधिवक्ता असित कुशवाहा पर जानलेवा हमले की निंदा की गई। मीडिया प्रभारी अभिषेक पाठक ने कहा कि अधिवक्ता पर हुए जानलेवा हमले के आरोपी 24 के अंदर नहीं पकड़े जाते है तो अधिवक्ता आंदोलन को विवश होंगे। उन्होंने कहा कि अधिवक्ताओं के साथ इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Spread the love

Leave a Reply