Mon. May 27th, 2024

मथुरा के यमुना एक्सप्रेसवे की सर्विस रोड पर कृषि अनुसंधान केंद्र के पास लाल रंग के ट्रॉली बैग में खून से लथपथ मिला शव दिल्ली के गांव मोड़बंद की आयुषी यादव लगभग 20 वर्स पुत्री नीतेश यादव का था देर रात पुलिस की पूछताछ में पिता टूट गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार पिता ने स्वीकार किया कि आन की खातिर मैंने ही अपनी इकलौती बेटी की गोली मारकर हत्या दिया है । 

यह हत्या 17 नवंबर दोपहर को की थी। इसके बाद रात में अपनी ही गाड़ी से लाकर शव को यमुना एक्सप्रेसवे के सर्विस रोड पर फेंका था। सूत्र बताते हैं कि आयुषी घर से बिना बताए कहीं चली गई थी जैसा ही वह घर आई पिता अपना आपा खो बैठा। इससे पूर्व रविवार की देर शाम मां और भाई आयुष ने पोस्टमार्टम पर पहुंचकर शव की पहचान की। पहचान के वक्त दोनों जोर-जोर से एक-दूसरे के गले लगकर रोने लगे। यमुना एक्सप्रेसवे के माइल स्टोन 108 पर ट्रॉली बैग में शुक्रवार 18 नवंबर को युवती का शव मिला था। और उसकी बाईं छाती पर गोली का निशान था। सिर, हाथ और पैर में चोट के निशान भी बेरहमी की तरफ इशारा कर रहे थे। आठ टीमें मृतका की शिनाख्त के लिए लगाई थीं। 

Spread the love

Leave a Reply