Sat. Nov 26th, 2022

मंगलवार को दोपहर ओमान से रामाशंकर का शव घर पहुंचा। शव देखते ही परिजन फूट फूट कर रो पड़े। उनकी पत्नी लीलावती का बुरा हाल हुआ है। रामा शंकर चार बच्चों दो बेटियों और दो बेटों के पिता था । इनमें किसी की शादी नहीं हुई थी ग्राम पंचायत बलियवा निवासी रामाशंकर प्रसाद करीब 10 साल से ओमान में राजमिस्त्री का काम करते थे। बीच-बीच में वह गांव आते थे। तीन माह पूर्व वह गांव से काम करने मस्कट गए। 26 अक्तूबर को सुबह करीब 11 बजे उनके बड़े बेटे अमित के पास मस्कट की कंपनी से फोन आया। फोन करने वाले ने बताया कि रामा शंकर की तबीयत अचानक खराब हो गई है।अमित ने जब अपने पिता से बात करने का प्रयास किया तो संपर्क नहीं हो सका। कंपनी के कर्मचारियों ने पिता से बेटे की बात नहीं कराई। बाद में शाम चार बजे दोबारा कंपनी की तरफ से फोन आया कि रामाशंकर की हार्ट अटैक से मौत हो गई है। तभी से परिवार के लोग काफी परेशानी मे थे।

Spread the love

Leave a Reply