Sat. Feb 4th, 2023

क्षेत्र में दीपावली पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सोमवार को लक्ष्मी पूजन के बाद मंगलवार की रात्रि में गौरा-गौरी का पूजन विधि-विधान के साथ किया गया। यहां गौरा-गौरी की स्थापना महावीर चौक, चंडी चौक, आजाद चौक, ब्राह्मण पारा, मरार पारा, लोधी पारा, भाटापारा, गौरा चौक में की गई थी। रात्रि में शोभायात्रा एवं कलश यात्रा निकाली गई। सुबह विसर्जन यात्रा निकाली गई। ग्रामीणों ने दीप प्रज्ज्वलित कर गौरी-गौरा का स्वागत किया एवं गौरी-गौरा का पूजन किया। विसर्जन यात्रा में महिला, पुरुष एवं बच्चे झूमते नाचते गाते शामिल हुए। शीतला तालाब में गौरी-गौरा का विसर्जन किया गया। बुधवार को गोवर्धन पूजा किया गया। गौठान में गायों को खिचड़ी खिलाई गई। यादव समाज ने ग्रामीणों के साथ ठाकुर देव चौक में गोवर्धन पूजा किया। इसमें सरपंच फूलमती वर्मा सहित पंचायत के पदाधिकारी शामिल हुए। गुरुवार को भाई दूज एवं मातर का पर्व मनाया जाएगा। दीपावली पर्व पर ग्रामीणों ने एक-दूसरे को शुभकामनाएं दी। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस विभाग अलर्ट रही और लगातार पेट्रोलिंग की जा रही थी। वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम भी सजग थी।

सूर्य ग्रहण के चलते इस बार एक दिन बाद की गई गोवर्धन पूूजा
उपरवाह | दीप पर्व लक्ष्मी माता के पूजन के दूसरे दिवस मनाया जाने वाले त्योहार गोवर्धन पूजन एवं गौरा-गौरी पूजन इस वर्ष सूर्यग्रहण के चलते एक दिन के अंतराल में बुधवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। विशेषकर आदिवासी समुदाय के द्वारा मनाया जाने वाला गौरा-गौरी पूजन अब अन्य समुदाय के लोगों के द्वारा भी हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। भगवान शिव एवं माता पार्वती की पूजा उसकी प्रतीक गौरा-गौरी की मिट्टी से निर्मित आकर्षक मूर्ति बनाकर उसे धान की बलियों, फूलों से सजाया गया था। इसकी मूर्ति बनाने सोमवार को विधिवत पूजन कर मिट्टी लाया गया। जिसे मंगलवार की रात्रि को मूर्ति तैयार किया गया। बुधवार की सुबह बाजे-गाजे के साथ ग्राम भ्रमण के साथ स्थानीय शीतला तालाब में विसर्जित किया गया।

Spread the love

Leave a Reply