Fri. Dec 2nd, 2022

छ्त्तीसगढ़ में साल 2023 में विधानसभा चुनाव होना है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी है। दोनों पार्टी के नेता लगातार एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रहे हैं। इधर, भाजपा के प्रदेश महामंत्री और पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने बस्तर के सारे कांग्रेस विधायकों को भ्रष्ट बताया है। इनके बयानों का पलटवार करते हुए जगदलपुर कांग्रेस जिला अध्यक्ष राजीव शर्मा ने केदार कश्यप को मानसिक संतुलन खोना कह दिया है।

दरअसल, भाजपा के प्रदेश महामंत्री केदार कश्यप ने मीडिया से चर्चा की। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के सारे विधायकों को भ्रष्ट बताया। उन्होंने कहा कि, सरकार अपने सारे विधायकों को किस मापदंड पर देखना चाहती है, यह समझ से परे है। बस्तर के उनके सारे विधायक भ्रष्ट हैं। उन्होंने कांग्रेस आला कमान से कहा है कि, उनके सारे विधायक झगड़ा करते हैं, गालियां देते हैं, भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। यदि कांग्रेस पार्टी टिकट देने के लिए इन मापदंडों को पहले रखती है तो बस्तर के सारे कांग्रेस विधायक इन मापदंडों के अनुसार खरे उतरते हैं। यदि यह मापदंड नहीं है तो चुनाव में नए चेहरे को लूटपाट करने के लिए भेजेंगे। जिसका जवाब यहां की जनता आने वाले चुनाव में उन्हें देगी। इधर, केदार के इस बयान के बाद बस्तर में सियासत गरमा गई है। कांग्रेस के जगदलपुर जिला अध्यक्ष राजीव शर्मा ने केदार के इन बयानों का पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि, केदार कश्यप अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं। 15 सालों तक प्रदेश में भाजपा की सरकार थी। वे खुद मंत्री रहे हैं। उनके कार्यकाल में भ्रष्टाचार कितना हुआ है यह हर कोई जानता है।

Spread the love

Leave a Reply