Sat. Nov 26th, 2022

एसीसी जामुल में संचालित डीएवी पब्लिक स्कूल में पैरेंट्स टीचर मीटिंग (PTM) में जमकर हंगामा हुआ। पीटीम में जैसे ही पैरेट्स क्लास टीचर के पास पहुंचे उन्हें फीस पटाने के लिए भेज दिया गया। इतना ही नहीं फीस काउंटर में सिर्फ एक कर्मचारी बैठाया गया। इससे परिजनों को घंटों लाइन में लगना पड़ा। इस बात को लेकर परिजनों ने काफी हंगामा किया। फीस पटाने के लिए लाइन में खड़े 80 साल के बुजुर्ग एसएस उपाध्याय ने कहा कि उन्हें पहले से फीस पटाने के लिए कोई रिमाइंडर या कॉल नहीं किया गया। न ही स्कूल डायरी में नोट लिखा गया। पैरेंट्स मीटिंग में हाफ इयर्ली एग्जाम के नंबर और कॉपी भी दिखाई जानी थी। जब क्लास रूम पहुंचे टीचर ने कहा, दो महीने की फीस बाकी है उसे चुका कर आओ। नीचे फीस चुकाने के लिए गए तो वहां एक ही काउंटर खुला था। उसमें काफी लंबी लाइन थी। बुढ़ापे में बीमार हालत में इस तरह लाइन में खड़ा कराना कहां तक सही है। फीस पटाने के लिए रिमाइंड दिया जाता या और भी 6 माह का समय है आगे वार्षिक परीक्षा फीस न देने पर उसमें बैठने से रोकते तो समझ आता इस तरह फीस के लिए परिजनों को परेशान करना गलत है।

Spread the love

Leave a Reply