Thu. Dec 1st, 2022

पुलिस के मुताबिक, पिता के जाने पर दिव्यांशी ने दरवाजा बंद कर लिया। बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे तक उसका कमरा नहीं खुला। इस पर पिता व सौतेली मां ने आवाज दी, लेकिन कमरे के अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके बाद खिड़की से देखा गया तो दिव्यांशी का शव पंखे से लटक रहा था।

गोरखपुर जिले के शाहपुर इलाके के इंद्रप्रस्थपुरम कॉलोनी में दिव्यांशी (15) का शव पंखे से बंधे दुपट्टे के फंदे से लटकता मिला है। पुलिस की मौजूदगी में शव उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। बताया जा रहा है कि पिता ने मोबाइल फोन देखने से मना किया था। इससे नाराज होकर ही उसने आत्मघाती कदम उठाया। जानकारी के मुताबिक, बिहार के सीवान जिले के ममवलिया निवासी राजेश श्रीवास्तव शाहपुर थाना क्षेत्र के इंद्रप्रस्थपुरम कॉलोनी में मकान बनवाकर परिवार के साथ रहते हैं। बेटी दिव्यांशी हाईस्कूल में पढ़ती थी। बुधवार रात नौ बजे वह कमरे में बैठकर मोबाइल फोन देख रही थी। इसी बीच पिता आ गए और डांटते हुए मोबाइल देखने से मना कर दिए। पुलिस के मुताबिक, पिता के जाने पर दिव्यांशी ने दरवाजा बंद कर लिया। बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे तक उसका कमरा नहीं खुला। इस पर पिता व सौतेली मां ने आवाज दी, लेकिन कमरे के अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके बाद खिड़की से देखा गया तो दिव्यांशी का शव पंखे से लटक रहा था। बताया जा रहा है कि पांच साल पहले दिव्यांशी की मां का निधन हो गया था। इसके बाद पिता ने दूसरी शादी कर ली। प्रभारी निरीक्षक शाहपुर रणधीर मिश्रा ने बताया कि पिता ने जो जानकारी दी है, उसके मुताबिक, डांट से नाराज होकर उसने खुदकुशी की है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Spread the love

Leave a Reply