Sat. Nov 26th, 2022

बीएसपी में कार्यरत ठेका श्रमिकों ने दीवाली के पहले बोनस भुगतान की मांग को लेकर बुधवार को 4 घंटे तक धरना दिया। अंत में आईआर विभाग को ज्ञापन सौंपा। जिसमें त्यौहार के पहले बोनस भुगतान नहीं किए जाने पर आईआर विभाग के सामने दीपक जलाकर दिवाली मनाए जाने की चेतावनी दी। जिसके बाद प्रबंधन ने त्यौहार के पहले बोनस दिए जाने को लेकर ठेकेदारों को गुरुवार को निर्देश जारी किए जाने की जानकारी दी। स्टील वर्कर्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसडब्ल्यूएफ़आई) के आव्हान पर बुधवार को बीएसपी के ठेका श्रमिकों द्वारा इक्यूपमेंट चौक में दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे तक धरना दिया। जिसमें त्यौहार पूर्व बोनस भुगतान सहित ठेका श्रमिकों को नियमित कर्मी के एस-1 के बराबर वेतन की मांग को पर नारे बुलंद किए। साथ ही श्रमिकों के अधिकारों के लिए एकता व संघर्ष का संकल्प लिया। इन्हीं संकल्पों के साथ ठेका श्रमिकों ने अपने वाजिब हक के लिए आने वाले समय में संघर्ष तेज करने का एलान किया। ठेका यूनियन के पदाधिकारी मोहन सागरवंशी ने कहा कि बीएसपी सहित सेल की तमाम इकाइयों में ठेका श्रमिकों से नियमित कर्मियों के बराबर का काम लिया जा रहा है। ठेका श्रमिकों के बराबर की भागीदारी के बदौलत ही बीएसपी सहित सेल की तमाम इकाई आज ऐेतिहासिक मुनाफे में है,उसके बावजूद बीएसपी सहित सेल की तमाम इकाइयों में ठेका श्रमिकों की स्थिति बदतर है। न ही ठेका मजदूर को वाजिब न्यूनतम मजदूरी ही मिलती है और न ही बोनस। यूनियन का मानना है कि जब नियमित कर्मियों को त्योहार पूर्व बोनस भुगतान किया जाता है तो श्रमिकों को भी त्योहार पूर्व बोनस मिले इस दिशा में प्रबंधन को ठोस कदम उठाना चाहिए। यूनियन के महासचिव योगेश सोनी ने कहा कियूनियन ने इस बार ठान लिया है कि बोनस का पूरा भुगतान नही करने वालों, धांधली करने वाले ठेकेदारों को दस्तावेज के आधार परदीवाली को बाद शिकायत कर उनके खिलाफ कार्यवाही की मांग करेंगे। ताकि धांधली करने वाले ठेकेदार पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो व ठेका श्रमिकों के शोषण पर लगाम लगाई जा सके। यूनियन के अध्यक्ष शांतनु मरकामने बताया किवित्त वर्ष में 1 अप्रैल से 31 मार्च में किए गए कार्य दिवस पर अर्जित वेतन का 8.33% बोनस पाने का हकदार है।इस हिसाब से अकुशल मजदूर का सालाना वेतन 117624 रुपए पर अकुशल मजदूर को 9798 रुपए, अर्धकुशल श्रमिक को सालाना 125424 पर 10447 रुपए, कुशल मजदूरों को 134784 रुपए सालाना वेतन पर 11227 रुपए और अतिकुशल श्रमिक को एक 144144 को 12007 रुपए बोनस पाने का अधिकार है। ठेका श्रमिकों ने बोनस वेतन सहित ठेका श्रमिकों के बुनियादी अधिकारों से वंचित रखने वाले ठेकेदारों पर कार्यवाही करते हुए बायोमेट्रिक सिस्टम लगाकर कर ऐसी व्यवस्था की जाए ताकि मेहनतकशों पर हो रहे शोषण व ठेकेदारों द्वारा की जा रही धांधली पर रोक लगाई जा सके। ठेका श्रमिकों को उनका हक अधिकार मिले। इस पर ठोस पहल की अपेक्षा के साथ मांग पत्र सौपा गया।

Spread the love

Leave a Reply