Sun. Nov 27th, 2022

भिलाई इस्पात संयंत्र में दुर्घटनाओं एवं खामियों को लेकर औद्योगिक सुरक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग के नोटिस के बाद संयंत्र प्रबंधन हरकत में आ गया है। भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र में दुर्घटनाओं एवं खामियों को लेकर औद्योगिक सुरक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग के नोटिस के बाद संयंत्र प्रबंधन हरकत में आ गया है। प्रबंधन ने ठेकेदारों को सख्त चेतावनी दी है कि किसी भी विभाग में ठेका श्रमिकों को आठ घंटे से ज्यादा काम न लेंवे। नियम का पालन न होने पर ठेकेदारों पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है। प्रबंधन ने हर विभाग के प्रमुखों को भी इस पर सख्ती से नजर रखने कहा है। भिलाई इस्पात संयंत्र में 15 हजार से अधिक ठेका श्रमिक कार्यरत हैं। यह ठेका श्रमिक संयंत्र के कमोबेश सभी विभागों में कार्यरत हैं और नियमित कर्मचारियों के साथ सामान्य पाली, प्रथम, द्वितीय एवं रात्रि पाली में भी कार्यरत हैं। वर्तमान में संयंत्र के नियमित कर्मचारियों से भली कहीं ज्यादा संख्या इन ठेका श्रमिकों की है। एक तरह से इन पर निर्भरता अपेक्षाकृत पहले की तुलना में अब कहीं ज्यादा हो गई है। वहीं उक्त ठेका श्रमिक हादसे के शिकार भी हो रहे हैं।

Spread the love

Leave a Reply