Thu. Dec 1st, 2022

दूसरे आरेखन पर असहमति व्यक्त करते हुए, पहले आरेखन पर जिला प्रशासन और राज्य सरकार से विधायक ने पुनर्विचार की मांग किया 

बेतिया/अवधेश कुमार शर्मा: भाकपा-माले केन्द्रीय कमिटी सदस्य सह सिकटा विधायक वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि अवसानी एसएसबी कैम्प बगहा- 2 से पनियाहवा पुल तक सड़क निर्माण ज्यादा सही है, कारण की इस सड़क की लम्बाई 8-9 किलोमीटर कहीं है, इतना ही नहीं इस रूट में पुल निर्माण कि भी जरूरत नहीं पडेगी, आगे उन्होंने कहा कि इस सड़क निर्माण से पर्यावरण की भी सुरक्षा होगी,सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि गंडक नदी से हजारों एकड़ वीटीआर का जंगल हाल के वर्षों में कट चुका है। प्रत्येक वर्ष कटाव जारी है ।इस आरेखन पर सड़क बनने से बांध का दोहरा लाभ मिल सकेगा, जंगल भी बचेगा। वन एवं पर्यावरण रक्षा के नाम पर  सड़क निर्माण पर रोक लगाना और जंगल के कटाव को नही रोकना सही सोच नही है। जिस वन की रक्षा के तर्क के नाम पर सड़क को रोकने की बात की जा रही है, वन कटाव से उस जगह पर खत्म हो रहा है, जो प्रतिवर्ष पेड़ कट रहें हैं वह रूकेगा, कुल मिलाकर यह सड़क निर्माण कम लागत और कम समय में बनकर तैयार हो जाएगा।  दूसरा आरेखन एनएच-727 के 83.0 किमी (रतन मालागांव के पास) से सुरू हो कर बगहा-1 बाईपास के साथ) बनकटवा, तिवारी टोला, वाणीप और बबूई टोला के शास्त्री नगर के पास) पर एनएच-727 को पार करते हुए पुल निर्माण कार्य करना पडेगा, पुल निर्माण में ज्यादा वक्त लेगा। लम्बी दूरी होगी तथा इस आरेखन में पुल निर्माण में कम से कम 5-6 साल तेजी से काम करने पर लगेगा।सबसे कठिन कार्य एक किलोमीटर यूपी में सड़क के लिए भूमि अधिग्रहण करना होगा। जो भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया जटिल और लंबी अवधि वाली होगी, इस आरेखन में राज्य के संसाधन और समय की बर्बादी होगी और  सड़क व पुल निर्माण कम्पनीयों को लूट की छूट मिल जाएगा, राज्य के संसाधनों की काफी क्षति होगी, और जनता को इसका लाभ भी नहीं मिलेगा! 

भाकपा-माले केन्द्रीय कमिटी सदस्य सह सिकटा विधायक वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता ने दूसरे आरेखन पर असहमति जताते हुए, पहले आरेखन परजिला प्रशासन और राज्य सरकार से पुनः विचार कर सड़क निर्माण कराये जाने की मांग किया।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply