Sat. Nov 26th, 2022

छत्तीसगढ़ मे चिटफंड कंपनियो से ठगे गया लोगो को रकम लौटाने के लिए धोखेबाजो की प्रापर्टी नीलाम करने तथा पैसे निवेशकों के खाते मे पहुचाने का सिलसिला सिर्फ 4 महीने मे 8 जिले तक पहुंच गया है। चिटफंड कंपनियो की सपंत्ती की नीलाम रायपुर और राजनांदगांव से शुरू हुई है, लेकिन जब दुर्ग बिलासपुर, बेमेतरा सूरजपुर जशपुर और जांजगीर चांपा मे न केवल कुछ कंपनियो की प्रापर्टी नीलाम की गई, बल्कि निवेशको के खाते मे पैसे भी पहुचे है। भास्कर की पड़ताल के मुताबित अब तक 17404 निवेशको के खाते मे 11.22 करोड़ रूपए डाले जा चुके है। ये पैसे पुलिस मे दर्ज 29 केस मे शामिल 13 कंपनियो की की प्रापर्टी नीलाम करके हासिल की गई। इनके अलावा, रायपुर मे धोखेबाजो की सपंत्ती नीलाम करके प्रशासन 4.14 करोड़ रूपए मिल चुके है। इन्हे निवेशको के खाते मे अप्रैल मे डाला जाएगा। इस मामले मे राजनांदगांव अभी सबसे ऊपर है, जहां 16796 लोगो के खाते मे 10.76 शामिल 13 पहुंचाए जा चुके है तथा डेढ करोड़ रूपए सरकारी एजेंसियों के पास हैं जिन्हे खैरागढ उपचुनावके कारण रोका गया है। प्रदेश मे तकरीबन 400 चिटफंड कंपनियो ने 25 लाख से ज्यादा लोगो से लगभग10 हजार करोड़ रूपए की ठगी है। मिली जानकारी के मुताबिक सरकारी एजेंसियों को अब तक इन कंपनियो की 768 करोड़ रूपए की प्रापर्टी ही मिल पाई।

Spread the love

Leave a Reply