Fri. Mar 1st, 2024
बेतिया : बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी युनियन (एटक) का नरकटियागंज अनुमंडल कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय धरना मंगलवार को सम्पन्न हुआ।
 धरना के माध्यम से हड़ताली सेविका-सहायिका के चयन रद्द पर रोक लगाने, चयन रद्द का आदेश वापस लेने, हड़ताल तोड़ने के लिए सेविका सहायिका को मानसिक रुप से प्रताड़ित करने पर रोक लगाने तथा अविलंब हडताली सेविका- सहायिका से वार्ता कर हडताल समाप्त करने की मांग की गई। उल्लेखनीय है कि विगत 29 सितम्बर 2023 से बिहार की लाखों सेविका सहायिका अनिश्चित कालीन हडताल पर है, लेकिन सरकार की हठधर्मिता के कारण हडताल लंबी होती जा रही है, युनियन के नेताओं ने कहा कि सरकार को यदि सेविका सहायिका के चयन रद्द करने का शौक है तो सभी सेविका/सहायिका का चयन एकमुश्त रद्द कर दे। जबतक सरकार से सार्थक वार्ता नहीं होती तब तक हड़ताल जारी रहेगा, पश्चिम चम्पारण में सेविका सहायिका का हड़ताल जारी है। विभागीय पदाधिकारी झूठी और भ्रामक खबर फैला रहें हैं कि चम्पारण में हडताल खत्म हो गया है। सच्चाई यह है कि सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी पोषाहार का बंदरबांट करने के लिए इस तरह का खेल खेल रहे हैं, जो जांच का विषय है। धरना में शामिल सेविका-सहायिका का समर्थन बिहार राज्य विद्यालय रसोईया संघ के जिला नेता शंभुनाथ मिश्र ज्ञानी, आंल इण्डिया यूथ फेडरेशन के जिला अध्यक्ष तारिक, एटक के जिला प्रभारी ओम प्रकाश क्रांति, सेविका/सहायिका नेता स्नेहलता, सुधा देवी, हसीना खातून, सरिता देवी, तब्बसुम आरा, प्रमिला, राजश्री देवी ने संबोधित किया। धरना उपरान्त मांग पत्र अनुमंडल पदाधिकारी को सौपा गया, धरना की अध्यक्षता अर्पणा राय ने किया और संचालन अजय वर्मा ने किया।
Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply