Sun. May 26th, 2024

पुरुषार्थ शब्द पुरुष और अर्थ वे दोनो शब्दो से मिलकर बना हुआ है। इस शरीर में आत्मा ही वह पुरुष जो परिश्रमा करते है। और कर्म करती है। और अर्थ शब्द का मतलब है। इस प्रकार के पुरुषर्थ शब्द का मतलब है। कि आत्मा आत्मा के लिए जो करती है। उसे और पुरुषार्थ उस कर्तव्य को ही कहेगें

यदि हम किसी काम को पूरा करने के लिए या परिणाम प्राप्त करने के लिए जो प्रयत्न किए जाने चाहिएं उन को हम पुरुषार्थ कहते है। प्रयास तो सभी करते है। लेकिन क्या और कैसे प्रयास करना चाहिए इसका समझ सबके अलग अलग होता है। पुरुषार्थ उस कर्तव्य को ही कहेगें

Spread the love

Leave a Reply