Fri. Jun 21st, 2024

एक बार 2 दोस्त काम करने के लिए गांव से बाहर शहर जा रहे थें। और एक दोस्त बहुत गरीब था और दूसरा के पास बहुत पैसा था। और जंगल के रास्ते से जा रहे थे बरसात के दिन था इसलिए रात्रि के समय एक जगह पर रुक गया गरीब दोस्त के मन में यह विचार आया कि क्यों ना मे  उसे मार कर सारा पैसा धन ले लू फिर काम करने के लिए शहर जाने के लिए जरुरत ही नही पडेगे। और उसने ऐसा ही किया मरते समय अमीर दोस्त ने कहा कि तुम्हारा कर्म छिपेगा नही फिर गरीब दोस्त ने कहा कोई तो मुझे देखा नही है। कौन गवाही देगा। कि मै तुम को मारा है। तब मरते हुए अमीर दोस्त ने कहा वे बरसात के पानी के बूंदे मेरे गवह देगा और ऐसा ही हुआ

इस अपराधी के पत्नी एक रात अपनी करीबी सहेली के पास रुक गई बरसात के बूंदे को देख करके उसे अपने पति की बताई हुए बात पर याद आ गई उसने वह बात अपनी सहेली को बता दी क्योकि उसे उस पर पुरा विश्वस था फिर सहेली ने यह बात अपने पति को बता दी पति सीआईडी कार्यालय में अधिकारी था और उसी केस के तलाश में थें। यह बात पत्नी को पता नही थी इस प्रकार सत्य समाने आ गया और पानी के  बूंदे ने उसे सबूत दे दिया और अपराधी पकडा गया।

 

Spread the love

Leave a Reply