Sun. May 26th, 2024

विज्ञान के चमत्कारो से भरे आज के युग में दों और ढ़ाई साल के बच्चों को भी छोटे छोटे हाथो से बडा मोबाइल पकड़ते है। और उनसे गाने सुनते है। कई प्रकार के गेम्स आदि और भी चीजे आते है। जिसमें बच्चा कम उम्र में वे सब पकडते है। परिणामस्वरुप शरीर का आक बढ़ने पर भी वें अपने सूक्ष्म मन को सम्भालने में असमर्थ ही रह जाता है। आज यदि किसी घर में चार सदस्य हो और मोबाइल एक हैं तो उस पर एक दुसरे छीना झपटी करते है। हर कोई उस एक का मालिक बनना चाहता है। परन्तु मन तो विधाता नें जन्मजात सबको अपना अपना दे रखा है। क्या हम उसके मालिक बन पाएं। एक बार एक शिष्य ने अपने गुरुदेव से देवताओ को वश करने का मंत्र मांगा।

आधुनिक मोबाइल में इन्टरनेट कनेक्शन के माध्यम से विश्व भर के दृश्य और जानकारियाँ उपलब्ध रहती है। ऐसे मोबाइल को हाथ में लेते ही मनुष्य को लगता है। कि दुनिया मेरी मुटठी में आ गई है परंतु वास्तविकता यह है। कि वह मोबाइल की मुटठी में आ जाता है। मोबाइल पर नजरें गड़ाए गड़ाए उसके नजरे कई आवश्यक कार्यो कर्तवयों और महत्वपूर्ण सम्बन्धो से हटने लगते है।

 

Spread the love

Leave a Reply