Fri. Mar 1st, 2024

सेल BSP के CSR द्वारा छत्तीसगढ़ दस्तकारी विकास कर्मक  के सहयोग से नारी सशक्तिकरण के तहत कौशल विकास योजना में महिलाओं को नियमित रूप  दिया जा रहा है। इसका अवलोकन महाप्रबंधक शिव राजन नायर के निर्देशानुसार CSR टीम के विकास सहायक रजनी रजक आशुतोष सोनी ने किया।

राजहरा लौह अयस्क समूह बीएसपी के कौशल विकास योजना के तहत दुल्की मांइस के ग्राम दुल्की में संचालित बांस शिल्प केंद्र में 25 महिलाएं प्रशिक्षण ले रही है। इनमें कमकासुर दुल्की कोस्मि पुसे वाडा कटटा पार की आदिवासी व जरुरतमंद परिवार की महिलाएं

शामिल है। वे आज आत्मनिर्भर बन रही है। प्रशिक्षक राहुल भगत उन्हें विविध घरेलू और सजावटी उत्पाद बनाना सिखा रहे है। जोे महिलाएं अब तक सिर्फ घर पर खाली बैठी थी वे अब उत्पाद बना कर स्वरोजगार पा सकती है। ट्रेनिंग ले रही महिलाओ को हर महीना तीन हजार रु राशि मिल रही है। आने वाले सप्ताह यह त्रैमासिक ट्रेनिंग पूरी होने जा रही है

 

Spread the love

Leave a Reply