Sat. Apr 13th, 2024

जिला दुर्ग पुलिस ने दहेज के लिए अपनी बहू को गाली गलोज  कर खुदकुशी के लिए मजबूर करने वाले पांच लोग को गिरफ्तार किया गया है। इनकी अत्याचार  से तंग आकर बहू ने खुद को आग के हवाले करके खुदकुशी कर ली है । नंदिनी पुलिस ने जांच में पति, सास-ससुर सहित पांच लोगों को दोषी पाया। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया  गया ।नंदिनी टीआई राजेश मिश्रा ने बताया कि बेमेतरा की रहने वाली तृप्ति साहू नाम की लड़की की शादी साल 2020 में ग्राम- सेमरिया के रहने वाले प्रेमनाथ साहू के साथ हुई। लड़की के पिता ने सामाजिक रीति- रिवाज के साथ शादी की और अपनी क्षमता के मुताबिक दहेज भी दिया।

शादी के बाद ससुराल जाते ही पति प्रेमनाथ, ससुर आनंद राम, सास राम प्यारी, जेठानी लक्ष्मी बाई और जेठ प्रकाश साहू ने दहेज में मोटरसाइकिल की मांग शुरू कर दी। वे तृप्ति को मोटरसाइकिल लाने के लिए मानसिक एवं शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने लगे। उन्होंने उसे पिता से डेढ़ लाख रुपए लाने के लिए कहा। जब तृप्ति ने अपने पिता की मजबूरी को देखते हुए ऐसा करने से मना किया तो उसे इतना अधिक प्रताड़ित करने लगे कि उसने मजबूरी में अपने ऊपर मिट्टी तेल छिड़कर आग लगा लिया। तृप्ति की मां लता साहू ने नंदिनी पुलिस को बताया कि उसकी बेटी ने ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर खुदकुशी की है। उसने बताया कि उनकी बेटी ससुराल की डिमांड से काफी परेशान रहती थी। इसके चलते 9 जनवरी 2023 की सुबह तृप्ति साहू ने अपने ससुराल में स्वयं के उपर मिट्टी तेल डालकर आग लगा लिया। 21 जनवरी को उपचार के दौरान रायपुर अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया। इस मामले में नंदिनी पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 304बी, 34 के तहत अपराध दर्ज किया था।

Spread the love

Leave a Reply