Sat. Nov 26th, 2022

बिजनौर में शेरकोट के ब्रश कारोबारी और उसके नौकर का अपहरण कर 10 लाख की फिरौती मांगने वाले चार बदमाशों का चालान करते हुए पुलिस ने उन्हें जेल भेज दिया है। पुलिस उस महिला की तलाश में भी लगी है, जिसके जरिये कारोबारी को बुलाया गया था। रविवार को एएसपी सिटी डॉ. प्रवीन रंजन सिंह ने प्रेसवार्ता कर खुलासा किया। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को उत्तराखंड के उधमसिंह नगर की रहने वाली मनीषा ने कारोबारी यशवीर सिंह निवासी ग्राम भनौटी शेरकोट बिजनौर को झांसे में लेकर रामनगर, उत्तराखंड में बुलाया। यशवीर सिंह अपने कार चालक मुकेश को साथ लेकर रामनगर चले गए। जहां मनीषा के चार साथी आए। उन्होंने यशवीर और उसके नौकर मुकेश को जबरन अपनी कार में बैठा लिया। इसके बाद उनसे 10 लाख की फिरौती मांगी गई। दो आरोपी पुलिस की वर्दी में थे। उन्होंने खुद को पुलिस में बताया और रौब गालिब किया। शनिवार को हरिद्वार जाते हुए नजीबाबाद पुलिस ने घेराबंदी कर बदमाशों को पकड़ लिया। बता दें कि आरोपियों ने कारोबारी के एटीएम से नजीबाबाद में 22 हजार रुपये भी निकलवाए थे। कारोबारी ने दस लाख का इंतजाम करने में असमर्थता जताई तो ढाई लाख रुपया देना तय हो गया था, लेकिन इससे पहले ही चार आरोपी पकड़ लिए गए। जबकि कारोबारी को बुलाने वाली मनीषा पुत्री ललित कुमार निवासी ग्राम तालमपुर उधमसिंह नगर उत्तराखंड अभी फरार है। आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक राधेश्याम, निरीक्षक राजेंद्र कुमार, निरीक्षक अर्जुन सिंह, एसआई सतेंद्र नागर, एसआई दीपक कुमार आदि शामिल रहे।

Spread the love

Leave a Reply