Thu. Dec 1st, 2022

यह बैठक जमीयत-उलेमा-ए- हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी ने बुलाई है. इस बैठक के लिए उत्तर प्रदेश में सरकारी मदद के बिना चलने वाले मदरसों से जुड़े लोगों को बुलाया गया है. इस बैठक में मदरसा संचालक सर्वेक्षण के सरकारी एलान के बाद की अपनी रणनीति बनाएंगे. कहां जा रहा है कि बैठक के बाद मदनी दोपहर साढ़े 12 बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर सकते हैं.योगी सरकार ने फैसला किया है कि प्रदेश के गैर मान्यता प्राप्त मदरसों का सर्वे करवाया जाएगा. इसके लिए 10 सितंबर तक सर्वे टीमें  गठित की जाएंगी. इसमें संबंधित तहसील के उप जिलाधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी और जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी शामिल होंगे.यह टीम अपर जिलाधिकारी प्रशासन के निर्देशन में मदरसों का सर्वे कर अपर जिलाधिकारी प्रशासन के जरिए अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेगी.यह सर्वे पांच अक्तूबर तक होना है. सर्वे टीमें 10 अक्तूबर तक अपनी रिपोर्ट देंगी और जिलाधिकारी 25 अक्तूबर तक सर्वे का डाटा और रिपोर्ट शासन को भेजेंगे. 

Spread the love

Leave a Reply