Tue. May 21st, 2024

प्रचण्ड गर्मी, हीट वेव (लू) आग उगलती धूप को व्यस्क नहीं झेल पा रहे हैं। ऐसे में विद्यालय शिक्षा प्राप्त करने वाले नन्हे मुन्ने नौनिहालों क्या स्थिति होगी। सभी बातों से बेखबर सरकार और प्रशासन आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालित कराने पर आमदा है। इन दिनों आंगनबाड़ी केन्द्र के बच्चों के बीमार होने की ख़बर मिल रही है। सरकार ने 25 जून 2023 तक बंद कर दिया। परन्तु आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन अनिवार्य है। यह कहीं से भी उचित एवं मानवीय दृष्टिकोण से सही नहीं है।भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव ओम प्रकाश क्रांति ने प्रशासन से आंगनबाड़ी केन्द्रों को इस भीषण गर्मी में बंद कर नन्हें बच्चों के साथ न्याय करने की मांग किया है। उल्लेखनीय है कि अधिकांश आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बिजली की सुविधा भी नहीं है और सुबह सात बजे से ही असह्य गर्मी हो रही है। ऐसी परिस्थिति में आंगनबाड़ी का संचालन इन बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए उचित नहीं है। इसलिए भाकपा जिला सचिव ओम प्रकाश क्रांति ने पश्चिम चम्पारण जिला के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों के संचालन को अविलंब बंद करने की मांग किया है। बिहार राज्य आंगन बाड़ी कर्मचारी यूनियन की पश्चिम चम्पारण जिला महासचिव सुमन वर्मा भी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (डीपीओ) और जिला पदाधिकारी से ऐसी परिस्थिति में समुचित निर्णय लेने की मांग किया है।

Spread the love

By Awadhesh Sharma

न्यूज एन व्यूज फॉर नेशन

Leave a Reply